मंगलवार, 25 मई 2021

चिनिनम सल्फ्यूरिकम ( CHININUM SULPHURICUM ) के व्यापक लक्षण, मुख्य रोग व फायदें

chininum sulphuricum 3X, 30, 200 uses in hindi, chininum sulphuricum benefits in hindi

चिनिनम सल्फ्यूरिकम ( CHININUM SULPHURICUM ) के व्यापक लक्षण, मुख्य रोग व फायदें विस्तार से जानकारी -

चिनिनम सल्फ्यूरिकम कुनीन का दूसरा नाम हैं । यह औषधि शुद्ध कुनीन होती हैं । एलोपैथी में हर किस्म के मलेरिया को ठीक करने लिए कुनीन दी जाती हैं । परन्तु कुनीन का अपने ढंग का ज्वर होता हैं, जिसमें चिनिनम सल्फ्यूरिकम उच्च शक्ति में कुनीन के दोषों को उत्पन्न किए बगैर ही ज्वर को ठीक कर देती हैं । कुनीन की थोड़ी मात्रा के सेवन से यदि मलेरिया ठीक नहीं होता , तो डॉक्टर इसकी मात्रा को बढ़ा देते हैं । जिससे बुखार उतरने के बजाय दब जाता हैं और अन्य लक्षण उत्पन्न हो जाते हैं । कान बहरे हो जाते हैं , भूख लगनी बंद हो जाती है , शरीर में क्षीणता , दुर्बलता आ जाती है , खून की कमी हो जाती हैं । 

चिनिनम सल्फ्यूरिकम में सवेरे 10, 11  बजे लगभग और तीसरे पहर के 3 बजे से रात के 10 बजे तक एक दिन का अन्तर देकर , दो घंटे आगे बढ़कर ज्वर आता हैं । इसी दौरान रोगी को ठंड लगती हैं ।  

इसके रोगी को शीत अवस्था , उत्ताप की अवस्था और स्वेद की अवस्था, ज्वर की इन तीनों अवस्थाओं में रोगी प्यास रहती हैं ।


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें