रविवार, 23 मई 2021

चेलिडोनियम ( CHELIDONIUM ) के व्यापक लक्षण, मुख्य रोग व फायदें

chelidonium q uses in hindi, chelidonium 30  uses in hindi

चेलिडोनियम ( CHELIDONIUM ) के व्यापक लक्षण, मुख्य रोग व फायदों का विस्तार पूर्वक वर्णन -

  • दाहिने स्कन्ध फलक के निचले भाग में लगातार दर्द
  • चेलिडोनियम और लाइकोपोडियम की तुलना 
  • पित्त की पथरी का दर्द
  • दायीं तरफ का न्यूमोनिया
  • आँख के रोगों में लाभप्रद 

" दाहिने स्कन्ध फलक के निचले भाग में लगातार दर्द "

चेलिडोनियम का  जिगर के रोगों  पर विशेष प्रभाव है और यही  इसका मुख्य लक्षण है। पीठ के पीछे दाहिने कंधे की तरफ जो अस्थि फलक है, उसके नीचे लगातार दर्द होते रहना भी इसका मुख्य लक्षण हैं । यह औषधि मुख्य रूप से  शरीर के दांए  हिस्से पर ही प्रभाव करती है । 

यह दर्द जिगर की बीमारी के कारण होता है । यह दर्द हल्का व तेज़ दोनों भी हो सकता है। इस लक्षण के साथ पीलिया , खांसी , अतिसार , न्यूमोनिया , रजोधर्म व  थकावट आदि में से  कोई भी रोग हो सकता है। यदि  इन रोगों के साथ उक्त लक्षण मौजूद हो तो यह औषधि विशेष लाभ पहुँचती है । 

रोगी का मुख का स्वाद कड़वा हो , जीभ पीली हो , आँखों पीलापन  व  चेहरा , हाथ , त्वचा पीली पड जाए , मल सफेद या पीला हो , पेशाब पीला हो , भूख न लगे , जी घबराए , पित्त की उल्टी हो तो ऐसी हालत में यदि  दाहिने कंधे के अस्थि फलक के निचले हिस्से में  दर्द न भी हो , तो भी  जिगर की बीमारी होने के कारण चेलिडोनियम अच्छा फायदा करती है। 

" चेलिडोनियम और लाइकोपोडियम की तुलना "

चेलिडोनियम और लाइकोपोडियम दोनों ही शरीर के दायीं तरफ की औषधियाँ  हैं । लेकिन  अनेक लक्षणों में इनमें  समानता भी पायी जाती है । चेलिडोनियम स्वल्पकालिक औषधि  है , इसका असर उतना गहरा नहीं होता । अगर इस औषधि से जिगर के  रोग ठीक न हो तो  लाइकोपोडियम देने की जरूरत पड़ जाती है । जिगर के रोग को दूर करके जिस काम को चेलिडोनियम अधूरा छोड़ देती है , उसे लाइकोपोडियम पूरा कर देती है । लाइकोपोडियम की तरह चेलिडोनियम औषधि का रोगी तेज़ गर्म चीज खाना व पीना पसंद करता है । 

" पित्त की  पथरी का दर्द "

पित्ताशय से पित्त की छोटी सी पथरी जब मूत्र प्रणाली में फंस जाती है। जिसके कारण रोगी को अत्यंत पीड़ा होती हैं। चेलिडोनियम मूत्र  प्रणालिका को खोल देती है।  और पित्त की  पथरी बिना दर्द किए आगे बढ़ जाती है । 

" दायीं तरफ का न्यूमोनिया "

हम यह जान चुके है की यह औषधि दायीं तरफ विशेष प्रभाव करती है । दाई आँख , दायां फेफड़ा , दाई टाँग , दाई जांघ , न्यूमोनिया में भी इसका दायें फेफड़े में अच्छा लाभ होता है । चेलिडोनियम का न्यूमोनिया की औषधियों मे विशेष स्थान है । न्यूमोनिया का जिगर की विकृति से कोई संबंध होता है । न्यूमोनिया में भी दायें स्कन्ध फलक के निचले हिस्से में दर्द हो सकता है । तो चेलिडोनियम अच्छा लाभ करती है। 

" आँख के रोगों में लाभप्रद "

चेलिडोनियम से आँख रोगों  में जैसे मोतियाबिंद, आँखों में पीलापन , धुंधलापन आदि में विशेष लाभ पहुँचती हैं। 

" चेलिडोनियम की  शक्ति तथा प्रकृति "

चेलिडोनियम मूल अर्क व अन्य सभी शक्तियों में उपलब्ध है।  इसका रोगी ठंडा पानी नही पी सकता । उबलता गर्म पेय ही  पेट में ठहरता है । चेलिडोनियम शीत प्रकृति की औषधि है । 


0 comments:

एक टिप्पणी भेजें