शनिवार, 6 मार्च 2021

एरम ट्रिफाइलम औषधि ( ARUM TRIPHYLLUM ) के व्यापक लक्षण, मुख्य रोग व फ़ायदे

एरम ट्रिफाइलम औषधि ( ARUM TRIPHYLLUM ) के व्यापक लक्षण, मुख्य रोग व फायदों का विस्तार से विश्लेषण-

  • होंठ और नाक को लगातार नोचने की इच्छा 
  • भयंकर खुश्क या बहता हुआ जुकाम 
  • गला बैठ जाना

एरम ट्रिफाइलम औषधि की प्रकृति -   भाषण देने, गायन, ठंडक से और गर्मी से ठंडक में आने पर रोग के लक्षणों में वृद्धि होती हैं।

होंठ और नाक को लगातार नोचने की इच्छा- किसी भी रोग में होंठ और नाक को लगातार नोचने की इच्छा हो , नोच कर रोगी खून तक निकाल लेता हैं। फिर भी कुरेदना बंद नहीं करता , इस अवस्था में एरम ट्रिफाइलम औषधि काम आती हैं ।  होंठ , मुख का खोल तथा नाक आदि की त्वचा छिल जाती है , खून निकलने लगता है , रोगी छिली जगह को भी नोचता रहता है , ऐसा करने से उसे दर्द होता है , परन्तु नोचने से नही रुकता । होंठ या नाक में ऐसी प्रबल खुजली  होती होती हैं, कि रोगी उस स्थान को नोचे बगैर चैन अनुभव न करता। होंठ से , नाक से खून बहे और वह फिर भी उस स्थान को नोचता रहै, यह " विशिष्ट - लक्षण ' हैं।  

भयंकर खुश्क या बहता हुआ जुकाम - इस औषधि में भयंकर जुकाम पाया जाता है । नाक बन्द हो जाती है , खासकर बांई नाक । रोगी मुख से सांस लेने को मजबूर हो जाता हैं । रात को लगातार छीकें आती हैं । यदि जुकाम खुश्क न होकर बहने वाला हो , तो नाक का पानी त्वचा के जिस भाग पर से बहता है वहाँ लाल निशान पड़ जाता है , नाक को रोगी अन्दर और बाहर से  छीलता रहता हैं । नाक से पानी बहने पर भी नाक बन्द रहती है । अत: इन लक्षणों में एरम ट्रिफाइलम औषधि लाभप्रद होती हैं।

गला बैठ जाना - गवैये , व्याख्याता , वकील या भाषण देने वाले जब तीन चार घंटे तक बोल कर ठंडे स्थान पर जाते हैं , तब हवा के लगने में उनका गला बैठ जाता हैं, तो एरम ट्रिफाइलम उन्हें अपना काम जारी रखने में सामर्थ्य प्रदान करती हैं , गला खुल जाता है । गला बैठने के लक्षण में एरम ट्रिफाइलम कारगर औषधि हैं।

एरम ट्रिफाइलम शक्ति व प्रकृति - यह औषधि निम्न शक्ति में अच्छा परिणाम नहीं देती और न ही इसे बार - बार देना चाहिए । क्योंकि इससे कुफल होता है । उच्च शक्ति मे ज्यादा कारगर लाभप्रद होती है ।


0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें